Quotes

Quotes : If you're not paying for the product, you are the product

1 thought on “Quotes”

  1. कोई भी धर्म या पंथ अगर इंसान की स्वतंत्रता और अन्य धर्मों को स्वीकार नहीं करता है तो वह धर्म के नाम पर अपराध है।